Friendship status in hindi for whatsapp and facebook 2020

0

 

Friendship status in hindi

सच्ची है मेरी दोस्ती आजमा के देखलो, करके यकीं मुझ पे मेरे पास आके देखलो, बदलता नहीं कभी सोना अपना रंग, जितनी बार दिल करे आग लगा कर देखलो।

 

दोस्त आपकी दोस्ती का क्या खिताब दे, करते है इतना प्यार की क्या हिसाब दे। अगर आपसे भी अच्छा फूल होता तो ला देते, लेकिन जो खुद गुलदस्ता हो उसे क्या गुलाब दे।

 

तेरी खुशी से ही नही, तेरे गम से भी रिश्ता है मेरा, तू ज़िंदगी का एक अहम हिस्सा है मेरा, ये दोस्ती तुमसे सिर्फ़ लफ़्ज़ों की नही. रूह से रूह का तुम से रिश्ता है मेरा

 

दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो तो इतिहास बनाती है।

 

खुश हूँ और सबको खुश रखता हूँ, लापरवाह हूँ फिर भी सबकी परवाह करता हूँ.. मालूम है कोई मोल नहीं मेरा, फिर भी, कुछ अनमोल लोगो से दोस्ती रखता हूँ।

 

समंदर के लिए वो लहरे क्या जिसका कोई किनारा ना हो …..तारो के लिए वो रात क्या जिसमे चाँद ना हो हमारे लिए वो दिन ही क्या…. जिस मे आप की याद ना हो……

 

लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है , लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है, लोग दुनिया मे दोस्त देखते है,हम दोस्तो मे दुनिया देखते है.

 

कुछ रिश्ते रब बनाता है कुछ रिश्ते लोग बनाते है पर कुछ लोग बिना किसी रिश्ते के रिश्ते निभाते है शायद वो ही “दोस्त” कहलाते है

 

तन्हा सा था जब भीड़ मे, सोचा कोई अपना नहीं तक़दीर मे, फिर एक दिन आप दोस्त बने, तो ऐसा लगा, कुछ खास था इन हाथों की लकीर मे.

 

करो कुछ ऐसा दोस्ती में की ‘Thanks & Sorry’ words बे-ईमान लगे निभाओ यारी ऐसे के ‘यार को छोड़ना मुश्किल’ और दुनिया छोड़ना आसान लगे…

 

इश्क़ और दोस्ती मेरी ज़िन्दगी के दो जहाँ है इश्क़ मेरा रूह तो दोस्ती मेरा इमां है इश्क़ पे कर दूँ फ़िदा अपनी ज़िन्दगी मगर दोस्ती पे तो मेरा इश्क़ भी कुर्बान है

 

दोस्ती ज़िन्दगी का खूबशूरत लम्हा है, जिसे मिल जाये तन्हाई में भी खुश, जिसे न मिले भीड़ में भी अकेला.

 

बिना पुकारे हमें साथ पाओगे करो वादा कि दोस्ती आप निभाओगे हम ये नही कहते कि हमें रोज याद करना बस याद करना उस वक्त जब अकेले अकेले चॉकलेट खाओगे

 

चेहरे की हंसी से ग़म को भुला दो, कम बोलो पर सब कुछ बता दो. खुद ना रुठों पर सब को हँसा दो, यही राज है ज़िंदगी का, कि जियो और जीना सिखा दो…..

 

बादल चाँद को छुपा सकता है आकाश को नही……. हम सबको भुला सकते है आप को नही…

 

जाम पर जाम पीने का क्या फायदा, शाम को पी, सुबह तक उत्तर जायेगी, अरे पीनी ही है तोह 2 बूँद दोस्ती की पी, सारी ज़िन्दगी फिर बस नशे में ही गुज़र जायेगी!

 

रब से दुआ करते हैं, की मेरे दोस्तों को, खुशियों का संसार मिले. और जो मुझे मेसेज नहीं करते, उन्हें अपनी गर्लफ्रेंड से, भाई जैसा प्यार मिले..

 

सूरज के सामने रात नहीं होती, सितारों से दिल की बात नहीं होती. जिन दोस्तों को हम दिलसे चाहते है, न जाने क्यों उनसे रोज़ मुलाकात नहीं होती.

 

कभी रूठकर कभी मनाकर, कभी हंसकर कभी रुलाकर. तेरी दोस्ती ने सिखाया है हर पल जीना मुस्कुरा कर. मुस्कुराती सुबह का स्वागत करो मुस्कुरा कर.

 

अक्सर दोस्ती करने वाले, अपने दोस्त की तारीफ करते रहते हैं ताकि वो उनसे जुदा न हो जाये. हम इसलिए खामोश रहते हैं, ताकि उन पर कोई और फ़िदा न हो जाये.

 

दोस्ती का रिश्ता दो अंजानों को जोड़ देता है, हर कदम पर ज़िंदगी को नया मोड़ देता है, वो अक्सर जिंदगी में साथ देता है तब, जब अपना साया भी साथ छोड़ देता है.

 

प्यार के मामले मे हम थोड़े कच्चे हैं, मगर दोस्ती के मामले मे हम बहुत सच्चे हैं. हमारी सच्चाई बस इसी बात पर क़ायम है, की हमारे दोस्त हमसे भी अच्छे हैं.

 

सूरज से अच्छा सितारा कोई नहीं, जैसा है रिश्ता हमारा दूसरा कोई नहीं, चाहे सारी दुनिया मे ढूंढ लो, मुझसा स्वीट और तुमसा प्यारा कोई नहीं.

 

याद रखेंगे हम हर कहानी आपकी, लहरों के जैसी वो रवानी आपकी, हमको जो आपने दिल में बसा रखा है, ये किस्मत है हमारी और मेहरबानी आपकी…

 

सितारों को गिन के बताना मुश्किल है, किस्मत में जो लिखा उसे मिटाना मुश्किल है, हम आपकी ज़रूरत हों या ना हों, एहमियत आपकी लफ़ज़ो में बताना मुश्किल है

 

हम आप के अकाउंट में एड कर रहे हैं, दिल, जान, प्यार, मोहब्बत, हँसी, और दोस्ती, जिस का पासवर्ड है, सिर्फ़ आप की प्यारी सी मुस्कान, सो कीप स्माइलिंग

 

आपकी दोस्ती पे नाज़ है हमे, कल था जितना भरोसा उतना आज है हमे, दोस्त वो नही जो खुशी मे साथ दे, दोस्त वही जो हर पल अपनेपन का एहसास दे.

 

ज़िक्र उनका ही रहा मेरे फसाने में, जिनको जान से ज़्यादा चाहा हुँने ज़माने में, तन्हाई में उनकी ही याद का सहारा मिला, नाकामयाब रहे जिन्हे हम भूलाने में…!

 

अपनी हर साँस तेरी गुलाम कर रखी है, लोगों मे ये ज़िंदगी बदनाम कर रखी है, आईना भी नहीं अब तो किसी काम का, हमने तो अपनी परछाईं भी तेरे नाम कर रखी है.

 

किसी रोज़ याद न कर पाऊं तो खुदगर्ज़ न समझ लेना दोस्तों, दरसल छोटी सी इस उम्र में परेशानिया बहुत हैं, मैं भूला नहीं हूँ किसी को मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ज़माने में, बस थोड़ी ज़िन्दगी उलझ पड़ी है दो वक़्त की रोटी कमाने में !

 

गम को बेचकर खुशी खरीद लेगे, ख्याबो को बेचकर जिन्दगी खरीदलेगें ,होगी इम्तहान तो देखेगी दुनिया, खुद को बेचकर आपकी दोस्ती खरीद लेगे..

 

दावे दोस्ती के मुझे नहीं आते यारो,एक जान है जब दिल चाहें मांग लेना..

 

सब नजरीये की बात्त है जनाब.!! कर्ण से कोइ पुछे, दुर्योधन कैसा था.!!!

 

भले ही अपने जीगरी दोस्त कम हैं…. पर जीतने भी है परमाणु बम हैं…

 

सच्ची है मेरी दोस्ती आजमा के देखलो, करके यकीं मुझ पे मेरे पास आके देखलो, बदलता नहीं कभी सोना अपना रंग, जितनी बार दिल करे आग लगा कर देखलो।

 

दोस्त आपकी दोस्ती का क्या खिताब दे, करते है इतना प्यार की क्या हिसाब दे। अगर आपसे भी अच्छा फूल होता तो ला देते, लेकिन जो खुद गुलदस्ता हो उसे क्या गुलाब दे।

 

मेरी नीम सी ज़िन्दगी शहद कर दे… मेरे दोस्त मुझे इतना चाहे की हद कर दे…

 

दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो तो इतिहास बनाती है।

 

खुश हूँ और सबको खुश रखता हूँ, लापरवाह हूँ फिर भी सबकी परवाह करता हूँ.. मालूम है कोई मोल नहीं मेरा, फिर भी, कुछ अनमोल लोगो से दोस्ती रखता हूँ।

 

दोस्ती का रिश्ता भी कितना अजीब होता है। मिल जाये तो बातें लंबी और बिछड़ जायें तो यादें लंबी।

 

दोस्ती करो तो आयुर्वेदिक वाला करो… फायदा ना हो तो नुक़सान भी ना हो…

 

समंदर के लिए वो लहरे क्या जिसका कोई किनारा ना हो …..तारो के लिए वो रात क्या जिसमे चाँद ना हो हमारे लिए वो दिन ही क्या…. जिस मे आप की याद ना हो……

 

लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है , लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है, लोग दुनिया मे दोस्त देखते है,हम दोस्तो मे दुनिया देखते है.

 

कुछ रिश्ते रब बनाता है कुछ रिश्ते लोग बनाते है पर कुछ लोग बिना किसी रिश्ते के रिश्ते निभाते है शायद वो ही “दोस्त” कहलाते है

 

हर नई चीज अच्छी होती है लेकिन दोस्त पुराने ही अच्छे होते है..

 

करो कुछ ऐसा दोस्ती में की ‘Thanks & Sorry’ words बे-ईमान लगे निभाओ यारी ऐसे के ‘यार को छोड़ना मुश्किल’ और दुनिया छोड़ना आसान लगे…

 

चाँद ने चांदनी को याद किया, रात ने सितारो को याद किया, हमारे पास न तो चाँद है न चांदनी, इसलिए हमने अपने चाँद से भी प्यारे दोस्त को याद किया …

 

इश्क़ और दोस्ती मेरी ज़िन्दगी के दो जहाँ है इश्क़ मेरा रूह तो दोस्ती मेरा इमां है इश्क़ पे कर दूँ फ़िदा अपनी ज़िन्दगी मगर दोस्ती पे तो मेरा इश्क़ भी कुर्बान है

 

हम वो नहीं जो दिल तोड़ देंगे, थाम कर हाथ साथ छोड़ देंगे, हम दोस्ती करते हैं पानी और मछली की तरह, जुदा करना चाहे कोई तो हम दम तोड़ देंगे …

 

दोस्ती ज़िन्दगी का खूबशूरत लम्हा है, जिसे मिल जाये तन्हाई में भी खुश, जिसे न मिले भीड़ में भी अकेला.

 

बिना पुकारे हमें साथ पाओगे करो वादा कि दोस्ती आप निभाओगे हम ये नही कहते कि हमें रोज याद करना बस याद करना उस वक्त जब अकेले अकेले चॉकलेट खाओगे

 

चेहरे की हंसी से ग़म को भुला दो, कम बोलो पर सब कुछ बता दो. खुद ना रुठों पर सब को हँसा दो, यही राज है ज़िंदगी का, कि जियो और जीना सिखा दो…..

 

दोस्त को दोस्ती का तोफा नहीं देते, दिल को जज़्बात का तोफा नहीं देते, देना होता तो हम आप को चाँद ला कर दे देते, मगर चाँद को चाँद का तोफा नहीं देते.

 

बादल चाँद को छुपा सकता है आकाश को नही……. हम सबको भुला सकते है आप को नही…

 

जाम पर जाम पीने का क्या फायदा, शाम को पी, सुबह तक उत्तर जायेगी, अरे पीनी ही है तोह 2 बूँद दोस्ती की पी, सारी ज़िन्दगी फिर बस नशे में ही गुज़र जायेगी!

 

मांगी थी जब हमने दुआ रब से, देना मुझे वो दोस्त हो जो अलग सबसे, उसने हमे मिला दिया आपसे और कहा, संभालो इन्हें यह अनमोल है सब से,

 

सवाल पानी का नहीं है, प्यास का है. सवाल मौत का नहीं है, सांस का है. वैसे तोह दुनिया में दोस्त है बहुत मगर, सवाल “दोस्ती” का नहीं “विश्वास” का है.

 

जैसे चाँद अधूरा-अधूरा सा हैं सितारों के बिना, जैसे गुलशन अधूरा-अधूरा सा हैं बहारों के बिना, जैसे समुन्दर अधूरा-अधूरा सा हैं किनारों के बिना, वैसे ही जीना भी अधूरा-अधूरा सा हैं तुम जैसे यारों के बिना.

 

चीज़ नहीं है दोस्ती जताने की, आदत नहीं है हमें किसी को भुलाने की, हम तोह इसलिए मिलते है काम, क्योंकि नज़र लग जाती है रिश्तों को भी ज़माने की.

 

लम्हे यह सुहाने साथ हो ना हो, कल में कोई आज जैसी बात हो ना हो, आपकी दोस्ती हमेशा इस दिल में रहेगी…चाहे पूरी उम्र मुलाक़ात हो ना हो…..

 

क्या मांगु खुदा से मै आपको पाने के बाद, किसका कारू इंतज़ार मै आपके आने के बाद, क्यों दोस्तों पर जान लुटाते हैं लोग मालूम हुआ आपको दोस्त बनाने के बाद.

 

ज़िन्दगी के अपने अलग ही असूल हैं, खातिर यार के तोह कांटे भी कबूल हैं, चल दू मै हस कर कांच के टुकड़ो पर भी, अगर यार कहे यह मेरे बिछाये हुए फूल हैं.

 

जिंदगी में कई दोस्त बनाना एक आम बात हैं लेकिन एक ही दोस्त से जिंदगी दोस्ती निभाना खास बात हैं।

 

सच्चा दोस्त अपनी सेहत के समान होता हैं जब हम उसे खो बैठते हैं तभी उसका महत्त्व जान पाते हैं।

 

एक अकेला गुलाब मेरे लिये पूरा बाग़ हो सकता है….. वैसे ही एक अकेला दोस्त ही मेरी दुनिया है।

 

भगवान् जिन्हें खून के रिश्तों में बांधना भूल जाता हैं। उन्हें सच्चे दोस्त बनाकर अपनी गलती सुधारता हैं।

 

दोस्ती अक्षर नहीं जो मिट जाये। सफर नहीं जो कट जाये। ये तो वो अहसास हैं जिसके लिये जिना भी कम पड जाये।

 

तलाश करोगे तो कोई मिल जायेगा मगर मेरी तरह दोस्ती कोन निभाएगा, मन की कमी नहीं आपको दोस्तों की पर, क्या कोई हमारी जगह ले पायेगा.

 

उम्मीद ऐसी हो जो जीने को मजबूर करे, राह ऐसे हो जो चलनेको मजबूर करे, महक कम न हो कभी अपनी दोस्ती की, दोस्ती ऐसेहो जो मिलने को मजबूर करे.

 

तेरी मुस्कुराहट मेरी पहचान है, तेरी ख़ुशी मेरी जान है, कुछ भी नहीं मेरी ज़िन्दगी, बस इतना समझ ले की तेरा दोस्त होना मेरी शान है!

 

बरसात आये तो ज़मीन गीली न हो, धूप आये तो सरसों पीली न हो, ए दोस्त तूने यह कैसे सोच लिया कि, तेरी याद आये और पलकें गीली न हों।

 

कामयाबी कभी बड़ी नही होती, पाने वाले हमेशा बड़े होते है. दरार कभी बड़ी नही होती, भरने वाले हमेशा बड़े होते है. इतिहास के हर पन्ने पर लिखा है, दोस्ती कभी बड़ी नही होती, निभाने वाले हमेशा बड़े होते है…

 

दोस्ती की महक इश्क़ से कम नहीं होती, इश्क़ पे ही ज़िन्दगी ख़त्म नहीं होती, अगर साथ हो ज़िन्दगी में अच्छे दोस्तों का, ज़िन्दगी किसी जन्नत से कम नहीं होती.

 

दोस्तों से बिछड़ के यह एहसास हुआ ग़ालिब, थे तो कमीने लेकिन रौनक भी उन्हीं से थी ।

 

बात करने का मजा तो उन लोगों के साथ आता है, जिनके साथ कुछ बोलने से पहले कुछ सोचना न पड़े..!

 

किस्मत वालों को ही मिलती है पनाह दोस्तों के दिल में, यूँ ही हर शख्स जन्नत का हक़दार नहीं होता….:sunglasses:

 

हमारे प्यार का अंदाजा तू क्या लगायेगी पगली , हम तो दोस्तों को भी darling कहके बुलाते है ।

 

उस ने एक ही बार कहा “दोस्त् हूं ” :two_hearts::yellow_heart: फिर मैने कभी नही कहा “व्यस्त हूं “!!!:two_hearts::yellow_heart:

 

सादगी अगर हो लफ्जों में, यकीन मानो, इज्जत ‘बेपनाह’, और दोस्त ‘बेमिसाल मिल ही जाते हैं..!

 

चाँद की दोस्ती, रात से सुबह तक, सूरज की दोस्ती, दिन से शाम तक. हमारी दोस्ती पहली मुलाक़ात से आखरी सांस तक..

 

नम्बर डिलीट करने से दोस्ती खत्म नही हो जाती यारा, दोस्ती खत्म करने के लिए जीगर को भी डिलीट करना पडेगा ।

 

लोग पूछते है मेरी खुशियों का राज क्या है.. इजाज़त हो तो आप सभी का नाम बता दूँ ?

 

दोस्त 1 ऐसा ‘चोर’ होता है जो. आँखों से आंसू, चेहरे से परेशानी, दिल से मायूसी, ज़िन्दगी से दुःख, और हाथो की लकीरो से मौत तक को चुरा लेता है.

 

:two_hearts:खुदा ने मुझसे पूछा, “इन दोस्तों की ज़रूरत है तुझे कब तक…?” मैने अपनी आँख का एक आंसु दरिया मे डाल दिया और कहा “ये आंसु ना मिले तब तक…:two_hearts:

 

दोस्तों की दोस्ती में कभी कोई रूल नहीं होता है और ये सिखाने के लिए, कोई स्कूल नहीं होता है

 

दोस्ती में ना कोई वार, ना कोई दिन होता हैं, ये तो वो एहसास है जिसमे बस यार होता हैं!

 

गुमान न कर अपने दिमाग पे मेरे दोस्त, जितना तेरा दिमाग हे उतना तो मेरा दिमाग खराब रेहता हे !!

 

हम आज भी शतरंज़ का खेल अकेले ही खेलते हे , क्युकी दोस्तों के खिलाफ चाल चलना हमे आता नही ..।

 

तू रूठा रूठा सा लगता है कोई तरकीब बता मनाने की , मैं ज़िन्दगी गिरवी रख दूंगा ; तू क़ीमत बता मुस्कुराने की..।

 

तेरी दोस्ती का गुलाम हुं वरना. . शहेनसा से भी गुलामी करवाने की नवाबीयत रखता हुं

 

सादगी किसी श्रृंगार से कम नहीं होती, चिंगारी किसी अंगार से कम नहीं होती! ये तो अपनी अपनी सोच का फर्क है बरना, दोस्ती किसी प्यार से कम नहीं होती !!

 

जिंदगी में कुछ दोस्त खास बन गये, मिले तो मुलाकात और बिछड़े तो याद बन गये, कुछ दोस्त धीरे धीरे फिसलते चले गये, पर जो दिल से ना गये वो आप बन गये.

 

तू चाँद है शरमाया ना कर, फूल से चेहरे को मुरझाया ना कर, जब तक हम ज़िंदा है तेरे दोस्त बन कर, तब तक किसी ब बात से घबराया ना कर.

 

पुराने दोस्त सोना जैसे होते है , नए दोस्त डायमंड जैसे होते है, मगर याद रखना डायमंड को चमकने के लिए सोने का सहारा लेना पड़ता है.

 

यादों के सहारे दुनिया नही चलती, बिना किसी शायर के महफ़िल नही बनती, एक बार पुकारो तो आए दोस्तों, क्यों की दोस्तों के बिना ये धड़कने नही चलती..!

 

लोग कहते हैं की इतनी दोस्ती मत करो, के दोस्त दिल पर सवार हो जाए, में कहता हूँ दोस्ती इतनी करो के, दुश्मन को भी तुम से प्यार हो जाए….

 

ज़िन्दगी मिलती हे हिमत वालो को, ख़ुशी मिलती हे तकदीर वालो को, प्यार मिलता हे दिल वालो को, और आप जेसा दोस्त मिलता हे नसीब वालो को.

 

बादशाह तो हम उसी दीन बन गये थे. जिस दिन दोस्तो ने कहा था… तू आगे रह कर एक थपड मार दे फिर हम सम्माल लेगें….

 

अगर दोस्तों के घर जाओ उनको बुलाने तो सबसे पहले उनके पापा निकलकर ऐसा घूरते है…….जैसे हम रोज कोठे पे जाते हौ ।

 

सब लोग मंज़िल को मुश्किल मानते हैं; हम तो मुश्किल को मंज़िल मानते हैं। बहुत बड़ा फर्क है सब में और हम में; सब ज़िंदगी को दोस्त और हम दोस्त को ज़िंदगी मानते हैं।

 

छोटे से दिल में गम बहुत है, जिन्दगी में मिले जख्म बहुत हैं, मार ही डालती कब की ये दुनियाँ हमें, कम्बखत दोस्तों की दुआओं में दम बहुत है.

 

अपनी दोस्ती फूलो की तरह न हो, जो एक बार खिले और फिर मुरझा जाये, बल्कि काटो की तरह हो, जो एक बार चुभे तो बार बार याद आये …

 

वो सागर ही क्या जिसका कोई साहिल ना हो, वो चमन ही क्या जिसमे फूल ना हो, वो आसमान ही क्या जिसमे तारे ना हो, और वो जीवन ही क्या जिसमे दोस्त ना हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here