Best Breakup status  in hindi for whatsapp and facebook 2020

0

Best Breakup status  in hindi

मेरा रब भी रूठा है मुझसे शायद,
मैं तुझे मांगू भी तो किससे !!

 

लोग जिस हाल में मरने की दुआ करते है,
मैंने उस हाल में जीने की कसम खायी है !!

 

उसने जी भर के मुझको चाहा था,
फ़िर हुआ यूँ की उसका जी भर गया !!

 

जब तेरे लम्हे न गुज़रें मेरे बिन तो समझ लेना,
‎टूट कर चाहा था किसी ने इस नफरत भरे जहाँ में !!

 

रहने दे गुंजाइशें जरा अपनी बेरुखी में,
इतना ना तोड़ मुझे की मैं किसी और से जुड़ जाऊँ !!

 

तुम भी करके देख लो मोहब्बत किसीसे,
खुद जान जाओगे की हम मुस्कुराना क्यूँ भूल गए !!

 

बड़े सुकून से रहता है वो आजकल मेरे बगैर,
जैसे किसी उलझन से छुटकारा मिल गया हो उसे !!

 

मेरे सज़दों में कोई कमी तो न थी ऐ खुदा,
क्या मुझसे भी ज्यादा किसी और ने चाहा था उसे !!

 

बात ये नही है की तेरे बिना जी नहीं सकते,
बात ये है की तेरे बिना जीना नहीं चाहते !!

 

सुकून की तलाश में हम दिल बेचने निकले थे,
खरीददार दर्द भी दे गया और दिल भी ले गया !!

 

जिसके चाहने वाले हजारों हो उसे क्या फर्क पड़ेगा,
जो कोई एक उसकी जिन्दगी से चला जाए !!

 

पता नहीं किस का था वो शख्स,
जो कभी मेरा होने का दावा करता था !!

 

मेरी आँखों की नमी ना जान पाया वो शख्स,
एक अरसे तक जो इन आँखों में ही रहा था !!

 

आँखों से हाल पूछा दिल का,
एक बूंद टपक पड़ी लहू की !!

 

लिख दे मेरा अगला जन्म भी उसके नाम पर ए खुदा,
ईस जन्म में हमारा ईश्क थोड़ा कम पड़ गया !!

 

जिसको आज मुझ में हजारों गलतियाँ नजर आती है,
कभी उसने ही कहा था की तुम जैसे भी हो मेरे हो !!

 

तुम इश्क को छोड़ो, अपनी बात करो,
इश्क से ज्यादा तुम ने तड़पाया है !!

 

इतनी चाहत के बाद भी तुझे एहसास ना हुआ,
जरा देखो तो दिल की जगह पत्थर तो नहीं !!

 

कल भी थे, आज भी है और हमेशा रहेंगे,
आपके बिना अधूरे हम !!

 

एक बार देखा था उसने मेरी तरफ मुस्कुराते हुए,
बस इतनी सी हकीकत है और बाकी सब कहानियां है !!

 

कमी तेरे नसीब में रही होगी की तू मेरी ना हुई,
मैंने तो कोशिश बहुत की थी तुझे अपना बनाने की !!

 

नहीं रूकती बरसात इन आँखों की,
ख़ुशी ना सही पर दर्द तो मत दो !!

 

रोते है आज तन्हां देखकर मुझे वो रास्ते भी,
जिन पर तेरे बगैर हम ना गुजरे थे कभी !!

 

वो खुद ही सवाल बनकर रह गया,
जो कभी मेरी पूरी जिन्दगी का जवाब था !!

 

वहां तक तो साथ चलो जहाँ तक साथ मुमकिन है,
जहाँ हालात बदलेंगे वहाँ तुम भी बदल जाना !!

 

हमारे चले जाने के बाद ये समंदर की रेत तुमसे पूछेगी,
कहाँ गया वो शक्स जो तन्हाई में आकर बस तेरा ही नाम लिखा करता था !!

 

तेरी चाहत में, तेरी मोहब्बत में, तेरी जुदाई में,
कोई हर रोज टूटता है पर आवाज नहीं होती !!

 

ना जाने आखिर इतना दर्द क्यों देती है ये मोहब्बत,
हँसता हुआ इंसान भी दुआओ में मौत मांगता है !!

 

मुद्दतों से इक शक्ल को भुलाना चाहा,
न सांसे छूटती है न वो इश्क छूटता है !!

 

अब अगर तुम जाने ही लगे हो तो पलट कर मत देखना,
क्यूंकि मौत की सजा लिखने के बाद कलम तोड़ दी जाती है !!

 

तेरी चाहतो ने अगर मुजको ना मारा होता,
मैं ज़माने में किसीसे भी ना हारा होता !!

करो फिर से कोई वादा, कभी ना बिछड़ने का,
तुम्हे क्या फर्क पड़ता है, चाहे फिर से मुकर जाना !!

 

जिनके प्यार बिछड़े है उनका सुकून से क्या ताल्लुक़,
उनकी आँखों में नींद नहीं सिर्फ आंसू आया करते है !!

 

जिसके सपनो में कभी मैं आया करता था,
आज वो मेरे लिए एक सपना बनकर रह गयी !!

 

अधूरी हसरतो का आज भी इल्जाम है तुम पर,
अगर तुम चाहते तो ये मोहब्बत खत्म ना होती !!

 

छोड़ दिया उसे उसकी ‎खुशियों की खातिर ,
वरना अपनी बदनसीबी उसे भी ले ‎डूबती !!

 

इलाज-ए-इश्क पूछा जो मैंने हकीम से,
धीरे से सर्द लहजे में बोला जहर पिया करो सुबह शाम !!

 

कल क्या खूब इश्क़ से मैने बदला लिया,
कागज़ पर लिखा इश्क़ और उसे ज़ला दिया !!

 

तुम ताल्लुक तोड़ने का जिक्र किसीसे भी ना करना,
हम लोगों से कह देंगे की उन्हे फ़िक्र नहीं मिलती !!

 

नींद भी अजीब है दोस्तों,
रातभर आती नहीं और दिनभर जाती नहीं !!

 

तमाम उम्र जिसकी ‎उंगलियाँ तक छू ना सका मैं,
वो चूड़ी वाले को अपनी कलाई थमा देती है !!

 

बहोत तकलीफ होती है सच में जब हम,
हद से ज्यादा किसीसे प्यार करे और वो उसकी कदर ना करे !!

 

क्या थी मजबूरी तेरी जो रास्ते बदल लिए तूने,
हर राज कह देने वाले क्यों इतनी सी बात छुपा ली तूने !!

 

दो शब्दो में सिमटी है मेरी मोहब्बत की दास्तान,
उसे टूट कर चाहा और फिर चाह कर टूट गये !!

 

लिखता हूँ तो केवल दिल की तसल्ली के लिए,
वरना जिस पर आसुओं का असर नहीं हुआ, अल्फाजो का क्या होगा !!

 

वो कहती है की मत कर मुझसे इतनी मोहब्बत,
क्यूंकि सपनो के सिवा मैं तुमसे कहीं नहीं मिल सकती !!

 

कुछ इस तरह वो मेरा इम्तिहान लेती है,
मेरी जान होकर, रोज़ मेरी जान लेती है !!

 

उसे गजब का शौक है हरियाली का,
रोज आकर जख्मों को हरा कर जाती है !!

 

इन मासूम निगाहों को पहचानती तो होगी न तुम,
इन में दर्द और अश्कों की वजह सिर्फ तुम हो !!

 

मैं सिर्फ़ लोगों का दिल बहला सकता हूँ दोस्तो,
किसी के दिल में जगह नहीं बना सकता !!

 

तुमने ही सफर कराया था मोहब्बत की कश्ती में,
अब नज़र न चुरा मुझे डूबता हुआ भी देख !!

 

उमर बीत गई पर एक जरा सी बात समझ में नहीं आई,
हो जाए जिनसे मोहब्बत वो लोग कदर क्यूं नहीं करते !!

 

जब किसी और के हो गऐ हो तो मेरे सपनों में भी मत आओ,
जिस के पास गऐ हो, ये दूआ है मेरी बस दिल से उसी के हो जाओ !!

 

मेरा नसीब मेरे हाथ काट गए वरना,
मैं तेरी माँग में सिंदूर भरने वाला था !!

 

हर बार मुकद्दर को कुसूरवार कहना अच्छी बात नहीं,
कभी कभी हम भी उन्हें मांग लेते है जो किसी और के होते है !!

 

उस रात से हम ने सोना ही छोड़ दिया यारो,
जिस रात उस ने कहा की सुबह आंख खुलते ही मुझे भूल जाना !!

 

सजा ये है की बंजर जमीन हूँ अब,
जुर्म ये है की बारिशों से इश्क किया मैंने !!

 

ठुकरा दी मेरी मोहब्बत उसने मुझको गरीब समझकर
अब उसको कौन समझाऐ की अमीर खरीददार होते है वफादार नहीं !!

 

ये चंद मयखाने ही है जो दर्द से मरने नहीं देते,
वरना हर इश्क का मारा खुदकुशी कर लेता !!

 

आज भी इसी उम्मीद में सिगरेट पीते है यारों,
कभी तो जलेगी सीने में रखी तस्वीर उसकी !!

 

नफरत करने की दवा बता दो यारो,
वरना मेरे मौत की वजह मेरा प्यार ही होगा !!

 

जी तो चाहता है की चीर के रख दूं तुझे ऐ दिल,
न तूं रहे मुझमे और न मोहब्बत रहे तुझमे !!

 

मोहब्बत का अश्कों से कुछ रिश्ता तो जरूर है,
ता उम्र न रोने वाले की भी इश्क़ में आँख भीग गई !!

 

किसीने मुझसे कहा की आपकी आँखे बहोत खुबसूरत है,
मैंने कहा की बारिश के बाद अक्सर मौसम सुहाना हो जाता है !!

 

जिद मत किया करो मेरी दास्ताँ सुनने की,
मैं हंसकर कहूँगी तो भी रोने लगोगे !!

 

सारे दर्द मुझे ही सौंपे उसने,
शायद उसे मुझपे ऐतबार बहुत था !!

 

उसका मिलना मुकद्दर में नहीं था शायद,
वरना हमने क्या कुछ नहीं खोया उसे पाने के लिए !!

 

किसीके लिए कितना भी कर लो ऐ दोस्तों,
एक छोटी सी गलती पर वो आपको भुल जाएगा !!

 

पूरी दुकान बिक जायेगी मुँह-मांगी कीमत पर,
जिस दिन दर्द-ए-दिल की दवा बाज़ार में आयेगी !!

 

लोग कहते है की उसे भूल कर नई जिंदगी शुरु करो,
वो रूह में बसा है जो मुझे किसी और का होने नहीं देता !!

 

हाँ ये सच है की हम जागेंगे उम्र भर तन्हा तेरे बगैर,
मगर नींद तुझको भी नहीं आएगी किसी और की बाँहों में !!

 

ये मेरे दिल की जिद है की प्यार करुँ तो सिर्फ तुमसे करूँ,
वरना तुम्हारी जो फितरत है वो नफरत के भी काबिल नहीं !!

 

अगर सुकुन मिलता है उसे हम से जुदा होकर,
तो दुआ है ख़ुदा से की उसे कभी हम ना मिले !!

 

ज्यादा फर्क नहीं रखा खुदा ने हम दोनों के बीच,
तुझे चाहने वाले बहुत है तो मुझे ठुकराने वाले बहुत !!

 

मुस्कुराने से शुरू और रुलाने पर खत्म,
ये एक जुल्म है जिसे लोग मोहब्बत कहते है !!

 

उसको नहीं थी तो नहीं थी,
मगर जो मुझे होने लगी थी वो मोहब्बत झूठी नहीं थी !!

 

कुछ तो बदला जरुर है,
मैं….दुनिया…या फिर तुम !!

 

किसकी खातिर अब तु धड़कता है ऐ दिल,
अब तो कर आराम की कहानी खत्म हुई !!

 

जिंदगी अजनबी मोड़ पर ले आई है,
तुम चुप हो मुझ से और मैं चुप हूँ सबसे !!

 

एक हक़ ही तो नहीं हमारा तुम पर वरना,
मोहोब्बत तो हमने भी बेपनाह की है तुमसे !!

 

ये सोचकर न रोका उस मुसाफिर को हमने,
दूर जाता ही क्यूँ वो अगर हमारा होता !!

 

नदी के किनारों सी लिखी उसने तकदीर हमारी,
ना लिखा कभी मिलना हमारा, ना लिखी जुदाई हमारी !!

 

दिल में तुम हो और तुम ही रहोगी,
मैं नही रहा तुम्हारे दिल में तो क्या तुम तो दिल में रहोगी !!

 

उसकी दर्द भरी आँखो ने जिस जगह कहा था अलविदा,
आज भी वही खडा है दिल उसके आने के इंतेजार में !!

 

तुझे मोहबत कहाँ थी बस दिल्लगी थी,
वरना मेरा पल भर का बिछड़ना भी तेरे लिए क़यामत होता !!

 

दाद देते है तुम्हारे नजर अंदाज करने के हुनर को,
जिसने भी सिखाया वो उस्ताद कमाल का होगा !!

 

सिर्फ चेहरे की ‎उदासी से निकल आए आंसू ,
‎दिल का आलम तो उसने देखा ही नहीं था !!

 

हैरान कर दिया उसने आंसुओ की वजह पूछकर,
जो शख्स कभी मुझको मुझसे ज्यादा जानता था !!

 

एक दिन शिकायत तुम्हे वक्त से नहीं खुद से होगी,
की मोहब्बत सामने थी और तुम दुनिया में उलझे रहे !!

 

वो मेरी किस्मत में नहीं ये सूना है लोगों से,
फिर सोचता हूँ की किस्मत खुदा लिखता है लोग नहीं !!

 

दो साँसे और बख्शी होती,
तो पूछते की कसुर क्या था !!

 

चलती हुई कहानियों के जवाब तो बहुत है मेरे पास,
लेकिन ख़त्म हुए किस्सों की ख़ामोशी ही बेहतर है !!

 

वो प्यार की राह में हमारे साथ कुछ इस तरह चले,
की वो दूर हो गये हमसे और कदमो के निशां भी न मिले !!

 

ऐसा नहीं की अब तुम्हारी जुस्तजू नहीं रही,
बस टूट टूट कर बिखरने की हिम्मत नहीं रही !!

 

कांटे तो नसीब आने ही थे,
फुल जो हमने गुलाब का चुना था !!

 

उम्र भर के आंसू ज़िन्दगी भर का ग़म,
मोहब्बत के बाज़ार में बहुत महंगे बिके हम !!

 

आखिर मुरजा ही गए वो गुलाब एक दिन जीने के बाद,
मगर धार काँटों की तेज हो गई उसके सुखने के बाद !!

 

मैं फ़ना हो गया वो बदला फिर भी नहीं,
मेरी चाहत से सच्ची थी नफ़रत उसकी !!

 

किस्मत और दिल की आपस में कभी नहीं बनती,
जो लोग दिल में होते है वो किस्मत में नहीं होते !!

 

मैंने जो पुछा उनसे की यूँ बात बात पे रूलाते क्युँ हो,
वो प्यार से बोली की मुझे बहता हुआ पानी बेहद पंसद है !!

 

चुप है सब्र से तो पत्थर न समझ हमें,
दिल पे असर हुआ है तेरी बात-बात का !!

 

ना किया करो कभी किसी से दिल दुखाने वाली बात,
सुना है दिल पे निशाँ रह जाते है सदियो तक !!

 

तड़पती देखता हूँ जब कोई चीज,
उठा लेता हूँ अपना दिल समझ कर !!

 

नफरत हो जाएगी तुम्हे भी दूनिया से,
मोहब्बत किसीसे बेशुमार करके देखो !!

 

कुछ तो तरस खाओ हम पर बस इतना बता दो,
तुम्हे मेरी जरूरत है या मैं सिर्फ एक जरूरत हूँ !!

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here