All Time Best Bollywood Dialogues Status Quotes For Whatsapp in Hindi

0
Bollywood dialogue:- हम सभी को movie वहूत ज्यादा पसंद है इसमें कोई भी शक नहीं है और हमारे bollywood में story के साथ अगर कोई dialogue न हो तो movie में ज्यादा मजा नहीं आता है और dialogue ऐसा होना चाहिए की बस हमारे मु पर चिपक ही जाना चाहिए जिसे बोलने और बार बार सुनाने में भी मजा आये ऐसे बहुत से Bollywood dialogue है जो बहुत Time के हमरे दिल में अभी बेस है और ऐसे ही dialogue हम अपने dosto से साथ बोलते है और शेयर करते रहते है ऐसे कुछ all time best Bollywood dialogue निचे लिखे है उम्मीद आपको पसंद आएंगे जिससे आपकी यादे थोड़ी ताजी हो जायेंगे
हम वह हैं जो पत्थर को कांच से तोड़ लिया करते हैं

 

किस्मत खराब हो तोह ऊंट पे बैठे आदमी को भी कुत्ता काट लेता है

 

कुछ बातें ऐसी होती है जो कही नहीं जाती … सिर्फ समझी जाती है

 

बात चीत से बड़े बड़े मसले हल होते है

 

जब बाप का जूता बेटे के पाऊँ में आ जाए … तोह वह बच्चा नहीं रहता

 

जब आँख खुले तभी सवेरा है

 

खुदा किसी को इतनी खुदाई न दे … कि अपने सिवा कुछ दिखाई न दे

 

मौका मिला नहीं करता … मौका ढूंढा जाता है

 

दिल की आवाज़ कभी गलत नहीं होती

 

एक हिंदुस्तानी नारी के लिए उसका पति ही उसका भगवन होता है

 

एक हिंदुस्तानी नारी के लिए उसका पति ही उसका भगवन होता है

 

सर झुका के जीने से बेहतर है की … सर उठा के मारो

 

जीत हमेशा भगवान की होती है … शैतान की नहीं

 

माँ की जगह इस दुनिया में कोई भी नहीं ले सकता

 

इश्क ने ग़ालिब निकम्मा कर दिया … वरना हम भी आदमी थे काम के

 

दुश्मन लाख बुरा चाहे तो क्या होता है … वही होता है जोह मंजूरे खुद होता है

 

जोह माँ बाप की इज़्ज़त नहीं करते … उसकी दुनिया में कहीं पे भी इज़्ज़त नहीं होती

 

जब इंसान को अपनी गलतियों का अहसास होता है … तो भगवान भी उससे माफ़ कर देता है

 

मौत का कोई वक़्त नहीं होता है

 

छोड़ दो मुझे … भगवान के लिए छोड़ दो

 

तुम्हारे घर में माँ बहन नहीं है क्या?

 

कहने और करने में बड़ा फर्क होता है

 

जिसने जैसा बोया, उसने वैसा पाया

 

सारी खुदाई एक तरफ, जोरू की भाई एक तरफ

 

खुशी जब हद से बढ़ जाती है तो ग़म बन जाती है

 

मोहब्बत और नफरत की जंग में … जीत हमेशा मोहब्बत की होती है

 

हर खूनी खून करने के बाद यही कहता है कि उसने खून नहीं किया

 

सुबह का भूला शाम को घर लौट आये … तो उसे भूला नहीं कहते

 

वक़्त से पहले और किस्मत से ज्यादा … न किसी को मिला है न मिलेगा

 

तोड़ना बहुत आसान होता है … जोड़ना बहुत मुश्किल

 

ग़म के शिव … में तुम्हे कुछ भी नहीं दे सकता

 

अगर यह झूठ हुआ … तोह यह तुम्हारा आखिरी झूठ होगा

 

मेरी खामोशी को मेरी कमजोरी मत समझना

 

घोडा घास से दोस्ती कर लेगा … तो खाएगा क्या?

 

लोहा लोहे को काटता है

 

कुछ पाने के लिए … कुछ खोना पड़ता है

 

भगवान के घर में देर है … अंधेर नहीं

 

मेरे आँखों में देख के कहो … कि तुम मुझसे प्यार नहीं करते

 

तेरी आँखों की नमकीन मस्तियाँ… तेरी हसी की बेपरवाह गुस्ताखियाँ… तेरी ज़ुल्फ़ों की लहराती अंगड़ाइयां… नहीं भूलूंगा मैं… जब तक है जान, जब तक है जान.

 

हर इश्क़ का एक वक़्त होता है … वह हमारा वक़्त नहीं था … पर इसका यह मतलब नहीं की वह इश्क़ नहीं था

 

ज़िन्दगी तोह हर रोज़ जान लेती है … बम तोह सिर्फ एक बार लेगा

 

होली कब है ? कब है होली ??

 

सुवर के बच्चों !!!

 

इसकी सजा मिलेगी, बराबर मिलेगी।

 

हम अंग्रेज़ के ज़माने के जेलर हैं.. हा हा..

 

जहांपना तुसी ग्रेट हो, तोहफा कुबूल करो…

 

दूध मांगोगे तो खीर देंगे, कश्मीर मांगोगे तो चीर देंगे

 

मैं जो बोलता हूं वह करता हूं, जो मैं नहीं बोलता वह जरूर करता हूं…

 

मुझपे एक अहसान करना कि मुझ पर कोई एहसान न करना…

 

हम सब इस रंगमंच की कठपुतलियां हैं जिसकी डोर ऊपर वाले हाथों में है।

 

डॉन के दुश्मनों की सबसे बड़ी गलती यह है कि वे डॉन के दुश्मन हैं।

 

जिंदगी एक मिली है तो दो बार क्या सोचना…

 

मर्द को दर्द नहीं होता..

 

यह पुलिस स्टेशन है तुम्हारे बाप का घर नहीं!

 

हम जहां से खड़े होते हैं लाइन वहीं से लगती है।

 

पुष्पा आई हेट टीयर्स!

 

बड़े-बड़े शहरों में छोटी-छोती बातें होती रहती हैं

 

यह ढाई किलो का हाथ किसी पर पड़ता है ना तो आदमी उठता नहीं उठ जाता है

 

यह ढाई किलो का हाथ किसी पर पड़ता है ना तो आदमी उठता नहीं उठ जाता है

 

आपके पांव देखें, बहुत हसीन हैं इन्हें जमीन पर मत उतारिएगा मैले हो जाएंगे

 

जिनके घर शीशे के होते हैं वे दूसरों के घरों में पत्थर नहीं फेंका करते

 

सलीम तुम्हें मरने नहीं देगा और अनारकली हम तुम्हें जीने नहीं देंगे

 

कौन कमबख्त है जो बर्दाश्त करने के लिए पीता है, मैं तो पीता हूं कि बस सांस ले सकूं

 

पिक्चर तो अभी बाकी है मेरे दोस्त..

 

इतनी शिद्दत से मैंने तुम्हें पाने की कोशिश की है कि हर ज़र्रे ने मुझे तुमसे मिलने की साज़िश की है।

 

कहते हैं अगर किसी चीज़ को दिल से चाहो तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है।

 

ऊपर वाला भी ऊपर से देखता होगा तो उसे शरम आती होगी, सोचता होगा मैंने सबसे खुबसूरत चीज़ बनाई थी, इंसान, इंसान.. नीचे देखा तो सब कीड़े बन गए.. कीड़े !!

 

हम भले ही ऊपर वाले हो अलग-अलग नाम से पुकारते हैं, लेकिन हमारा धरम एक है, मज़हब एक है.. इंसानियत।

 

ये मुसलमान का खून, ये हिन्दू का खून.. बता इस में मुसलमान का कौन सा ? हिन्दू का कौन सा ? बता ?

 

वक़्त तुम्हारा ख़राब आया है और दिन हम गिने !!

 

स्वागत नहीं करोगे आप हमारा ?

 

थप्पड़ से ड़र नहीं लगता साहब.. प्यार से लगता है।

 

हर बच्चे की अपनी खूबी होती है, अपनी काबिलियत होती है, अपनी चाहत होती है।

 

बोले तो गांधीगिरी ज़िंदाबाद।

 

देश तो अपना हो गया है लेकिन लोग पराए हो गए हैं।

 

अरे भाई अगर मैं हल चलाएगा तो बैल क्या करेगा ?

 

लाइफ में जब टाइम कम रहता है ना, डबल जीने का, डबल।

 

एई मामू.. जादू की झप्पी दे ड़ाल और बात ख़तम।

 

जब लोग तुम्हारे खिलाफ बोलने लगे.. समझ लो तरक्की कर रहे हो।

 

हमको मिटा सके ये ज़माने में दम नहीं, हमसे ज़माना खुद है, ज़माने से हम नहीं।

 

दोस्ती का एक उसूल है मैडम: नो सॉरी, नो थैंक यू।

 

जहाँपना तुसी ग्रेट हो तोफो कबूल करो।

 

बच्चा क़ाबिल बनो, काबिल.. कामयाबी तो साली झक मारके पीछे भागेगी।

 

तारीख पे तारीख मिलती रहती है लेकिन इन्साफ नहीं मिलता। मिलते हैं तो सिर्फ तारीख।

 

मैं जो बोलता हूँ वो मैं करता हूँ और मैं जो नहीं बोलता, वो मैं डेफिनेटली करता हूँ।

 

एक मच्छर आदमी को हिजड़ा बना देता है।

 

मैं सिर्फ मनी भाई के लिए काम करता हूँ।

 

एक बार जो मैंने कमिटमेंट कर दी, उसके बाद तो मैं ख़ुद की भी नहीं सुनता।

 

मेरे बेटे आएंगे, मेरे कारन अर्जुन आएंगे, ज़मीन की छाती फाड़ के आएंगे, आसमान का सीना चीर के आएंगे।

 

बड़े बड़े देशों में ऐसी छोटी छटी बातें होती रहती हैं।

 

बाबूजी ने कहा गांव छोड़ दो, सब ने कहा पारो को छोड़ दो, पारो ने कहा शराब छोड़ दो, आज तुमने कह दिया हवेली छोड़ दो, एक दिन आएगा जब वो कहेंगे.. दुनिया ही छोड़ दो।

 

कौन कमबख्त बर्दाश्त को लिए पीता है ? मैं तो पीता हूँ कि बस सांस ले सकूं।

 

रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते हैं। नाम है शहंशाह।

 

कुत्ते कमीने मैं तेरा ख़ून पी जाऊंगा।

 

जिनके घर शीशे के होते हैं, वो बत्ती बुझा के कपडे बदलते हैं।

 

मैं आज भी फेंके हुए पैसे नहीं उठाता।

 

आज मेरे पास गाड़ी है, बांगला है, पैसा है, तुम्हारे पास क्या है ?

 

मेरे पास माँ है।

 

मुझे जंगली बिल्लियाँ पसंद हैं।

 

डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

 

डॉन का इंतज़ार तो ग्यारह मुल्कों की पुलिस कर रही है..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here