Love SMS in Hindi |download free HD Love images

0
Love SMS:- जब किसी को प्यार हो जाता है है तब लोग अपने partner को खुश करने का कोई न कोई तरीके देखते रहते है और देखे भी क्यू नहीं क्यूकी उसे देख कर तो आप खुश होते हो इसलिए आप बाकि लोगो से कुछ अलग कर के खुश करने की कोशिश करते है पहले के ज़माने में लोग अपने partner को letter लिखते थे और आज के ज़माने हम एक दूसरे को बहुत से sms करते जमाना बदल गया पर हमारी feelings नहीं बदली है हम अपने partner से बहुत से बाते करते है और अगर वो सारी बाते अगर हम कुछ शायराना तरके से करे तो आपको तो अच्छा लगेगा ही और आपके partner को भी अच्छा लगेगा इसलिए हम कुछ ऐसे के love sms लाये है

 

 

एक दिन तुम्हे एहसास होगा कि क्या था मैं तुम्हारे लिए ! पर तब तक मैं तुम्हारी ज़िन्दगी से बहुत दूर जा चुका हूँगा !!!

 

हमारे life में लोग बिन बुलाये आते है,
क्यू की यहाँ स्वागत में फूल नहीं.
दिल बिछाये जाते है,,

 

एक आरज़ू थी तेरे साथ जिंदगी गुजारने की, पर तेरी तरह मेरी तो ख्वाहिशे भी बेवफा निकली।

 

तेरी यादें अक्सर छेड़ जाया करती हैं कभी अा़ँखों का पानी बनकर कभी हवा का झोंका बनकर.!!!

 

इरादा कत्ल का था तो ~मेरा सर कलम कर देते क्यू इश्क मे डाल कर तुने ~हर साँस पर मौत लिख दी..!!

 

जिस रोज तेरे चाहने वालो को तू बेहद बुरी लगेगी, उस दिन भी तू हमे बेहद खूबसूरत लगेगी !

 

नफ़रत सी हो गई हैँ इस दुनिया से, एक तुम से मोहब्बत करके॥

 

उम्र कैद की तरह होते हे कुछ रिश्ते ,, जहा जमानत देकर भी रिहाई मुमकिन नही!!!

 

और भी बनती लकीरें दर्द की शुकर है खुदा तेरा जो हाथ छोटे दिए !!

 

चल आ तेरे पैरो पर मरहम लगा दूं ऐ मुक़द्दर. कुछ चोटे तुझे भी आई होगी, मेरे सपनो को ठोकर मारकर !!

 

ये मत सोचना की हम जुदा हो गए तेरी याद से,
बस तेरी ख़ुशी की खातिर तुझसे बात करना छोड़ दिया ..!!

 

टूटे हुवे सपनो और रूठे हुवे अपनों ने आज उदास कर दिया | वरना लोग हमसे मुस्कराने का राज पुछा करते थे ||

 

क्या करियेगा पहचान कर इन चेहरों को अब तो अपना चेहरा भी अजनबी सा नजर आता है !!

 

चली जाने दो उसे किसी ओर कि बाहों मे ।। इतनी चाहत के बाद जो मेरी ना हुई, वो किसी ओर कि क्या होगी ।

 

लोग कहते हैं जब कोई अपना दूर चला जाता है तो बड़ी तकलीफ होती है, पर ज्यादा तकलीफ तो तब होती है जब कोई अपना पास होकर भी दूरियाँ बना ले !

 

आपको ज़ीद हे अगर हमे भूलने की तो, हमे भी ज़ीद हे आपको अपनी याद दिलाने की !!

 

तुम हर तरह से मेरे लिए ख़ास हो, शुक्रिया वो बनने के लिए जो तुम हो !

 

है कोई वकील इस जहान में, जो हारा हुआ इश्क जीता दे मुझको.

 

शक ना कर मेरी मुहब्बत परपगली……. अगर मै सबूत देने पर आया तो … तु बदनाम हो जायेगी..!!!!

 

शायरी उसी के लबों पर
सजती है साहिब….जिसकी आँखों में इश्क़ रोता हो ..!!!

 

सब कहते हैं ज़िन्दगी में सिर्फ एक बार प्यार करना चाहिए, लेकिन तुमसे तो मुझे बार बार प्यार करने को दिल चाहता है।!

 

मंज़िलों से गुमराह भी ,कर देते हैं कुछ लोग ।। हर किसी से रास्ता पूछना अच्छा नहीं होता !

 

हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की, और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की, शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है, क्या ज़रूरत थी, तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की !!

 

हमने लिया सिर्फ होंठों से जो तेरा नाम..दिल होंठो से उलझ पड़ा कि ये सिर्फ मेरा है !!

 

क्या लिखूँ दिल की हकीकत आरज़ू बेहोश है,ख़त पर हैं आँसू गिरे और कलम खामोश है!

 

मैं क्या जानूँ दर्द की कीमत ? मेरे अपने मुझे मुफ्त में देते हैं !

 

माना की औरों के मुकाबले कुछ ज्यादा पाया नहीं मैंने,
पर खुश हूँ की स्वयं को गिराकर कुछ उठाया नहीं मैंने !!

 

तुम रख न सकोगे मेरा तोहफा संभालकर, वरना मैं अभी दे दूँ, जिस्म से रूह निकालकर…!!

 

ये दुनिया बहुत बे-रहम है दोस्तो……..
तकलीफ देकर..खुशी भी मना लेती है..

 

बहुत आसान है पहचान इसकी . . . अगर दुखता नहीं तो दिल नहीं है!!

 

दोनों की पहली चाहत थी , दोनों टूट के मिला करते थे … वो वादे लिखा करती थी , में कसमे लिखा करता था !!!

 

जलने वाले की दूआ से ही सारी बरकत है, वरना अपना कहने वाले तो याद भी नही करते…!!

 

जो कहते थे मर जायेंगे तुम बिनवो आज भी ज़िंदा हैं ये बात किसी और को कहने के लिए…!

 

लिख दू तो लफ्ज़ तुम हो, सोच लू तो ख्याल तुम हो, मांग लू तो मन्नत तुम हो, और चाह लू तो मोहोब्बत भी तुम ही हो.

 

परिसथिति एक ऐसी चीज है जो इऩसान को सबकुछ सीखा देती है, बचपन मे ही बड़ा बना देती है।!

 

क्यों घबराता है पगले दुःख होने से जीवन तो प्रारम्भ ही हुआ है रोने से….!!

 

तेरा हुआ ज़िक्र तो हम तेरे सजदे में झुक गये ,,अब क्या फर्क पड़ता है मंदिर में झुक गये या मस्जिद में झुक गये !!!!

 

टूटा हुवा विश्वास छूटा हुवा बचपन दोबारा नहीं लौटेंगे..!!

 

क़ाश कोई ऐसा हो, जो गले लगा कर कहे…!! तेरे दर्द से मुझे भी तकलीफ होती है….!!!

 

ज़ख़्मों के बावजूद मेरा हौसला तो देख…. तू हँसी तो मैं भी तेरे साथ हँस दिया….!!

 

सालो साल बातचीत से उतना सुकून नही मिलता, जितना एक बार महबूब के गले लग कर मिलता है….!!

 

मिलने को तो दुनिया मे कई चेहरे मिले ,, पर तुम सी #‎मोहब्बत हम खुद से भी न कर पाये..!!

 

ए खुदा..!! मुझे प्यार उसी से हो जो…. मुझे पाकर प्यार में पागल हो जाए….!!

 

जिस दिन वो मेरी सलामती की दुआ करती है… उस दिन गोल्ड फ्लैक भी जेब में टूट जाती है !!

 

तू इतना प्यार कर जितना तू सह सके, बिछड़ना भी पड़े तो ज़िंदा रह सके….!!

 

लिख देना ये अल्फाज मेरी कबर पे…!! मोत अछी है मगर दिल का लगाना अच्छा नहीं…!!

 

इक बात कहूँ इश्क , बुरा तो नहीँ मानोगे…. बङी मौज के थे दिन, तेरी पहचान से पहले.

 

चलो अब जाने भी दो….क्या करोगे दास्तां सुनकर,,, ख़ामोशी तुम समझोगे नही….और बयां हमसे होगा नही !!

 

मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ। मैं खुशनसीब हूँ कि तुम मेरी ज़िन्दगी में हो।

 

ना मुस्कुराने को जी चाहता है ना आंसू बहाने को जी चाहता है लिखूं तो क्या लिखूं तेरी याद मे बस तेरे पास लौट आने को जी चाहता है?

 

नमक की तरह हो गयी है जिंदगी, लोग स्वादानुसार इस्तेमाल कर लेते हैं !!!!

 

हमने गुज़रे हुए लम्हों का हवाला जो दिया हँस के वो कहने लगे रात गई बात गई …!!!

 

मुझे तेरे ये कच्चे रिश्ते जरा भी पसंद नहीं आते या तो लोहे की तरह जोड़ दे या फिर धागे की तरह तोड़ दे .!

 

जरुरी नहीं कि इंसान प्यार की मूरत हो, सुंदर और बेहद खूबसूरत हो, अच्छा तो वही इंसान होता है, जो तब आपके साथ हो, जब आपको उसकी जरुरत हो।

 

तेरा ज़िक्र..तेरी फिक्र ..तेरा एहसास…तेरा ख्याल..!!! तू खुदा नहीं ….फिर हर जगह मौज़ूद क्यूँ है…!!

 

#वो मुझे कहती है ,तुम #pgl हो क्या???
#तो हमने भी कहे दिया
तुम ने ही तो मुझे #pgl किया है।

 

जाते वक्त बहोत गुरूर से कहा था उसने…. तुम जैसे हजार मिलेंगे मैंने मुस्कुरा कर कहा…. मुझ जैसे की ही तलाश क्यों..??

 

जिन्दगी भर कोई साथ नहीं देता यह जान लिया हमने, लोग तो तब याद करते हैं जुब वह खुद अकेले हों!!!

 

कयामत के फरिश्तों ने जब मांगा
उससे जिंदगी का हिसाब..
खुदा, खुद मुस्कुरा के बोला जाने दो
मोहब्बत की है इसने..

 

मैंने तो देखा था बस एक नजर के खातिर…. क्या खबर थी की रग रग मे समां जाओगे तुम…..!!

 

कईं रोज से कोई नया जखम न दिया पता करो सनम ठीक तो है न !!

तू मेरी चाहत का एक लफ्ज भी ना पढ़ सका, और मैं तेरे दिये हुए दर्द की किताब पढ़ते पढ़ते ही सोती हूँ।

 

डूबे हुओं को हमने बिठाया था अपनी कश्ती में यारो….. और फिर कश्ती का बोझ कहकर, हमे ही उतारा गया…!

 

हँसकर दर्द छुपाने की कारीगरी मशहूर थी मेरी, पर कोई हुनर काम नहीं आता जब तेरा नाम आता है |

 

उसकी मुहब्बत का सिलसिला भी क्या अजीब है, अपना भी नहीं बनाती और किसी का होने भी नहीं देती….!!

 

तुझसे अच्छे तो जख्म हैं मेरे । उतनी ही तकलीफ देते हैं जितनी बर्दास्त कर सकूँ ।।

 

किसी के द्वारा प्यार किये जाना आपको ताकत देता है और किसी को प्यार देना आपको हिम्मत देता है।

 

ख़ुशी कहा हम तो गम चाहते है, ख़ुशी उन्हे दे दो जिन्हें हम चाहते हे.

 

प्रेम न तो किसी शब्द से और न किसी किताब से परिभाषित किया जा सकता है। ये तो सिर्फ महसूस किया जा सकता है।

 

हर इंसान अपनी चाहत को चाहता है,
पत्नी को प्यार करता है,
लेकिन माँ को पूजता है !

 

ऐ मोहब्बत तुझे पाने की कोई राह नहीं,
शायद तू सिर्फ उसे ही मिलती है जिसे तेरी परवाह नही।

 

तुमसे किसने कह दिया कि मुहब्बत की बाजी हार गए हम?
अभी तो दाँव मे चलने के लिए मेरी जान बाकी है !

 

तू मेरी चाहत का एक लफ्ज भी ना पढ़ सका,
और मैं तेरे दिये हुए दर्द की किताब पढ़ते पढ़ते ही सोती हूँ।

 

हो इजाजत तो एक बात पूंछू…
जो हमसे इश्क सीखा था
वो अब किससे करते हो .

 

प्यार की गहरायी की सीमा तब पता चलती है,
जब बिछुड़ने का समय होता है।

 

एक दिन तुम्हे एहसास होगा कि क्या था मैं तुम्हारे लिए ! पर तब तक मैं तुम्हारी ज़िन्दगी से बहुत दूर जा चुका हूँगा

 

जब आप किसी को प्यार करते हैं तो बिना अपेक्षा उसे अपना सब कुछ दे देते हैं।

 

माँ का दिल प्यार का ताना बाना है ।
नहीं… शायद वो प्यार का एक समंदर है…!
नहीं… वो उससे भी कहीं बढ़कर है ! है ना ?

 

सब कहते हैं ज़िन्दगी में सिर्फ एक बार प्यार करना चाहिए, लेकिन तुमसे तो मुझे बार बार प्यार करने को दिल चाहता है।

 

माँ का प्यार एक सफ़ेद रोशनी है,
जिसमे बच्चों की किलकारियां एक संगीत बनकर गूंजती है !

 

इज़ाज़त हो तो एक बात पूछूं,
जो हमसे इश्क़ सीखा था,
वो अब तुम किससे करते हो ?

 

दुनिया में रहने की सबसे अच्छी दो जगह
‘किसी के दिल में’ या ‘किसी की दुआओं में

 

मुझसे मत पूछना कि मैं तुम्हे प्यार क्यूँ करता हूँ क्यूंकि तब मुझे अपने जीने कि वजह बतानी पड़ेगी।

 

शुक्र है तुम मेरी ज़िन्दगी में हो, तुमसे यह दुनिया मुझे खूबसूरत नजर आती है।

 

इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने महीने या साल एक दूजे के साथ रहे, मायने यह रखता है कि रोज़ आप एक दूजे के लिए कितने समर्पित थे।!

 

क्यूँ दुनिया वाले प्यार को ईश्वर का दर्जा देते है ?
मैंने तो आज तक नहीं सुना कि ईश्वर ने बेवफ़ाई की हो …।

 

सच्चे प्यार कि कोई Expiration Date नहीं होती।

 

किसी के द्वारा प्यार किये जाना आपको ताकत देता है और किसी को प्यार देना आपको हिम्मत देता है।

 

प्रेम एक आत्मा से मिलके बनता है जो दो शरीरों में निवास करती है

 

कितने सालों के इंतज़ार का सफर खाक हुआ ।
उसने जब पूछा “कहो कैसे आना हुआ”।

 

वो किसी और की ख़ातिर हमें भूल भी गए तो कोई बात नहीं,
हम भी तो भूल गए थे सारा जहां उनके ख़ातिर।

 

चलो पूरी कायनात का बँटवारा करते है,
तुम सिर्फ मेरे बाकी सब तुम्हारा ….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here